हाथो की लकीरो
Created by

अपने हाथो की लकीरो मे बसा ले मुझको
मैं हू तेरा तो नसीब अपना बना ले मुझको

मुझसे तू पूछने आया है वफ़ा के मानी
ये तेरी सादा-दिली मार ना डाले मुझको

खुद को मैं बाँट ना डालू कही दामन-दामन
कर दिया तूने अगर मेरे हवाले मुझको

वादा फिर वादा है मे ज़हर भी पी जाऊ क़ातिल
शऱ्त ये है कोई बाहो मे संभाले मुझको

This Post has
4641 views
0 comment
© 2021 - हिंदीशायरी.com