Dr.S.P.Pandit

कोई तो जलवा खुदा के वास्ते, 
दीदार के काबिल दिखाई दे, 
संगदिल तो मिल चुके हैं हजारों, 
कोई अहल-ए-दिल तो दिखाई दे।

Tags:
This Post has
367 views
0 comment
© 2019 - हिंदीशायरी.com